what is keywords, how to find keywords, how to do keyword research, keyword research,

2.4 What is Keyword for Blog and How to do Keyword Research?

What is Keyword for Blog?

किसी भी सर्च इंजन में कुछ सर्च करने के लिए जब हम वर्ड्स का यूज करते हैं उनको कीवर्ड्स कहते हैं.

ब्लॉगिंग में कीवर्ड्स क्यों यूज किए जाते हैं?

देखिए ब्लॉगिंग की दुनिया सारी कीवर्ड्स पर ही टिकी हुई है जितने भी bloggers है सभी कीवर्ड्स के बेस पर ही blogging करते हैं और गूगल सर्च इंजन भी हमें कीवर्ड्स के बेस पर ही रिजल्ट दिखाता है.

How many keywords are there based on Length?

  1. Short tail keywords (also known as Head board or organic keywords)
  2. Mid-tail keywords
  3. Long tail keywords

Short tail keywords for Blog

जैसे एक सिंगल वर्ड, example के लिए wordpress, तो इसको हम कहेंगे कीवर्ड और दूसरा अगर कीवर्ड के साथ themes लगा दें जैसे कि wordpress themes, इसको हम कहेंगे short tail keyword

Mid-tail keywords for Blog

और उसके बाद आ गया wordpress themes for Blog इसको हम mid tail keyboard कहेंगे और उसके बाद अगर हम लिखें free responsive themes for Blog तो इसको हम long-tail कीवर्ड कहेंगे।

Long tail keywords for Blog

अगर कोई एक सिंगल वर्ड है तो उसको हम कीवर्ड करेंगे और अगर दो वर्ड्स को मिलाकर एक के कीवर्ड बना है तो उसको हम शॉर्ट टेल कहेंगे और 3 या 4 वर्ड्स को मिलाकर अगर कीवर्ड बनता है तो उसको हम middel कहेंगे और अगर पूरी लाइन आप लिखते हो तो उसको हम long-tail keyword कहेंगे।

What is Targeting keywords for Blog

टारगेटिंग कीवर्ड डिजिटल मार्केटिंग एडवर्टाइजमेंट में ज्यादा यूज किया जाता है।

Types of Targeting keywords for Blog

  • Market segment keywords
  • Customer defining keywords
  • Product keywords
  • Branded keywords
  • Competitor keywords
  • Geo-targeted keywords

Types of On-site keywords for Blog

Primary keywords

जिस कीवर्ड को हम सर्च इंजन में सर्च करते हैं फिर चाहे वह short tail कीवर्ड हो या long-tail कीवर्ड हो।  उस कीवर्ड को प्राइमरी कीवर्ड कहते हैं और नीचे जो सजेशंस आते हैं उनको LSI कीवर्ड कहते हैं।

Primary keywords. Keyword Research. what is keyword. 
deepak nagpal.
free blogging course.

Related or LSI keywords

LSI की फुल फॉर्म होती है latent semantic indexing.

जब हम गूगल में कुछ सर्च करते हैं तो हमें नीचे ऑटोमेटिक सजेशन आते हैं और जब हम सर्च कर लेते हैं तो सबसे नीचे जाकर कुछ रिलेटेड सर चीज होती हैं उनको LSI कीवर्ड कहते हैं।

Related or LSI keywords. Keyword Research. what is keyword. 
deepak nagpal.
free blogging course.

.

Primary keywords. Keyword Research. what is keyword. 
deepak nagpal.
free blogging course.

.

Types of google ads keywords

  • Broad match keywords
  • Phrase match keywords
  • Exact match keywords
  • Negative keywords

4 Types of keywords for Blog

जब आपने आर्टिकल लिखना है तो आपको चार प्रकार के कीवर्ड टाइप्स के बारे में जानना बहुत जरूरी है जो के हैं :

  1. Commercial
  2. Transactional
  3. Informational
  4. Navigational

1. Commercial

कमर्शियल की वर्ड का मतलब है जब कोई यूजर गूगल में सर्च करता है और उसका मकसद कुछ खरीदने का हो तो उस तरह के कीवर्ड को कमर्शियल कीवर्ड कहते हैं.

2. Transactional

transactional कीवर्ड भी commercial कीवर्ड की तरह ही होता है. पर इसमें काउंटिंग वर्ड्स आ जाते हैं और कीवर्ड के आगे पीछे कुछ वर्ड्स लगते हैं जैसे के top 10 bats या top 10 yaga mats या top 10 mobile under 10000 इस तरह के कीवर्ड्स को हम transactional कीवर्ड कहते हैं।

3. Informational

उसके बाद में आ जाता है इनफॉरमेशनल कीवर्ड, इसका मतलब होता है जब कोई यूज़र गूगल में सर्च करता है कुछ सीखने के लिए जैसे Do I Need Yoga Mats for Yoga. इसका मतलब है क्या मुझे यह योगा करने के लिए योगा मैट खरीदना चाहिए, तो इसमें क्या हो रहा है यूजर इंफॉर्मेशन लेना चाहता है तो इस तरह के keyword को जिस में इंफॉर्मेशन के इंटेंट से सर्च किया जाता है उस तरह के कीवर्ड को इनफॉरमेशनल कीवर्ड कहते हैं।

4. Navigational

उसके बाद आता है नेवीगेशनल कीवर्ड, जब हम गूगल में सर्च करते हैं और उस सर्चिंग कीवर्ड के साथ जिस कंपनी का कीवर्ड होगा, उसको भी साथ में लिख देते हैं. तो गूगल हमें उसी कंपनी का रिजल्ट दिखाएगा, example के लिए जैसे हमने जूते खरीदने हैं तो हम लिख देते हैं, Adidas shoes, तो इसमें हमने क्या कह दिया कि हमें एडिडास के शूज चाहिए तो इसमें हमने क्या कर दिया नेविगेशन डाल दी के जूते हमें एडिडास के ही चाहिए तो इस तरह के कीवर्ड को हम नेवीगेशनल कीवर्ड कहते हैं।

How to do Keyword Research?

Which keyword should be selected to write the article

अब सवाल यह उठता है कि Keyword Research करते समय हमने ब्लॉगिंग में कौन सा KEYWORD सिलेक्ट करना है जिसके ऊपर हम आर्टिकल्स लिखेंगे।

हम इनमें से इनफॉरमेशनल कीवर्ड पर फोकस करेंगे और इसी पर आर्टिकल्स लिखेंगे।

जब भी आपने आर्टिकल लिखना स्टार्ट करना है तो उसके लिए आप ने सबसे पहले अपने Keyword Research करने के बाद मेन कीवर्ड सिलेक्ट कर लेना है। उस कीवर्ड को अच्छी तरह से एनालाइज कर लेना है कि उस कीवर्ड पर searches  कितनी है, कंपटीशन कितना है और इसको फाइनल करने के बाद उस कीवर्ड को गूगल में सर्च करना है और LSI कीवर्ड देखने हैं जितना भी उस कीवर्ड से आईडिया निकले या उस से रिलेटेड जितने भी टॉपिक्स बनते हैं जैसे के ट्रांजैक्शनल कीवर्ड या इनफॉरमेशनल कीवर्ड। 

दोनों तरह के कीवर्ड को यूज करके जितने भी टॉपिक बनते हैं उनकी एक लिस्ट बना लेनी है और सभी टॉपिक्स पर आर्टिकल लिखना है. ऐसे नहीं होना चाहिए कि आपने एक टॉपिक सेलेक्ट कर लिया और उसके ऊपर एक एक आर्टिकल लिखा और हो गया. नहीं ऐसा नहीं होता है, इससे जितने भी टॉपिक बनेंगे, सभी टॉपिक्स के ऊपर आर्टिकल लिखने हैं तभी आप गूगल में रैंक कर पाओगे।

आर्टिकल रैंक होने में कितना टाइम लगता है?

जब आप कोई आर्टिकल लिख देते हो तो उसको next day से ही आप चेक करने लग जाते हो कि क्या रिजल्ट आया है, इतना जल्दी कोई भी आर्टिकल गूगल में  रैंक नहीं करता है. आपको wait करना होगा, जब आप की वेबसाइट new होती है तो आपको कम से कम 3 से 4 महीने बाद ही रिजल्ट दिखना शुरू होता है और अगर आपकी वेबसाइट 6 मंथ या उससे ज्यादा पुरानी है तो अगर आप उस वेबसाइट पर आर्टिकल लिखते हो तो उसमें भी वन वीक से 2 वीक के अंदर रिजल्ट दिखना शुरू हो जाता है.

How many articles have to be written to rank a single Keyword for blog?

सबसे पहले Keyword Research करके एक निष् सिलेक्ट कर लिया। उसके बाद में इस से रिलेटेड जितने भी keyword  होते हैं ट्रांजैक्शनल इनफॉरमेशनल सभी की एक लिस्ट बना लो. जैसे कि मैं सिलेक्ट कर लेता हूं वेबसाइट का निष् मोबाइल रिपेयर और उसे रिलेटेड कीवर्ड हो गए डिस्प्ले रिपेयर, बैटरी कनेक्टर, रिपेयर आईसी, रिपेयर शार्टिंग, रिपेयर बैटरी बैकअप, इनक्रीस। इन keywords की जितनी भी पॉसिबल टाइटल बन सकते हैं सभी के ऊपर आपने आर्टिकल लिखना है।

इस प्रोसेस  में सबसे इंपॉर्टेंट फेक्टर होता है निष् सिलेक्ट करना। उसी पर ही कंपटीशन डिपेंड करता है, आपने जितना भी एनालाइज करना है, निष् के ऊपर करना है. अगर आपका निष् low कंपटीशन पर होगा तो आप उस से रिलेटेड जितने भी टॉपिक बनाएंगे वह सारे रैंक करेंगे और वह सभी लो कंपटीशन में ही होंगे। टॉपिक्स की परवाह नहीं करनी। जितने topics बनेंगे सब पर आर्टिकल लिखना है।

आपने जो फोकस करना है वह करना है निष् के ऊपर. निष् को अच्छी तरह analise करना है. फिर सिलेक्ट करना है और उस पर एक वेबसाइट बना देनी है. निष् हो सके तो आप माइक्रो निष्  पर अपनी वेबसाइट बनाइए। क्योंकि Google algorithm के अनुसार माइक्रो निष्  जल्दी रैंक करता है।

गूगल को आपकी वेबसाइट में जो आर्टिकल्स होते हैं उनकी मैक्सिमम पोटेंशियल समझने में टाइम लगता है.

How many articles do you write a day?

एक और बात आर्टिकल्स लिखने का एक schedule होना चाहिए कि आप इतने टाइम में इतने आर्टिकल्स लिख रहे हो. अगर आप ऐसा लगातार करते हो तो गूगल को समझ आ जाएगा कि आप इतने टाइम में इतने आर्टिकल्स लिखते हो इसमें कोई लिमिट नहीं होती है. आप जितने चाहो उतने आर्टिकल लिख सकते हो. लेकिन एक schedule होना चाहिए कि आपने इतने टाइम में इतने आर्टिकल लिखने ही है अगर आप ऐसा करोगे तो गूगल आप पर ट्रस्ट करना शुरू कर देगा और अपनी वेबसाइट में आएगा और आपके आर्टिकल्स को read करेगा और जिसकी वर्ड पर आपने आर्टिकल टारगेट किया है उस कीवर्ड पर आपकी वेबसाइट को रैंक करवाना शुरू कर देगा।

कोशिश करेंगे जो आप keyword सिलेक्ट करो उसकी monthly Searches 1000 से ऊपर होनी चाहिए।

कंपटीशन लो होना चाहिए।

Keyword सिलेक्ट करने के लिए CPC कितनी होनी चाहिए?

आपने सीपीसी की तरफ नहीं जाना है सीपीसी ₹1 से ऊपर होनी चाहिए तो सही रहता है, पर कंपटीशन लो होना बहुत जरूरी है और सर्च वॉल्यूम ज्यादा होना बहुत जरूरी है. अगर आपको कोई ऐसा कीवर्ड मिल जाए जिसकी सर्च वॉल्यूम बहुत  ज्यादा हो और कंपटीशन बिल्कुल लो हो तो उस कीवर्ड  को आप उठा लो और उस पर आर्टिकल लिख दो।

Best tool for SEO

इसके बाद हम एक टूल के बारे में बात करते हैं जिसका नाम है https://ahrefs.com/ उसमें क्या होता है कि वैसे तो यह PAID TOOL है अगर इसका आप मंथली प्लान लेते हो तो कम से कम $99 पर मंथ पड़ता है पर इसमें कुछ हद तक फ्री भी होता है, फ्री यूज करने के लिए आपने सबसे नीचे चला जाना है और वहां पर कीवर्ड जनरेटर पर क्लिक करना है वहां से आप कुछ कीवर्ड आईडिया ले सकते हो.

Best tool for SEO. Keyword Research. what is keyword. 
deepak nagpal.
free blogging course.

इस टूल के अंदर अगर आपको किसी कीवर्ड की डिफिकल्टी 50 से कम मिलती है तो आप उस पर जा सकते हो।

Tool for Find Search Volume of any Keyword(Free)

इसके बाद keywords पर सर्च वॉल्यूम पता करने के लिए एक टूल है जिसका नाम है keyword surfer chrome extension. अब हम इसका उसे करना सीखेंगे।

Tool for Find Search Volume of any Keyword(Free). Keyword Research. what is keyword. 
deepak nagpal.
free blogging course.

इस chrome-extension को डाउनलोड करने के बाद जब आप गूगल में किसी keyword को सर्च करोगे तो उसी के सामने आपको उस keyword  का सर्च वॉल्यूम आ जाएगा आप वहां से कंट्री भी सेलेक्ट कर सकते हैं।

Tool for Find Search Volume of any Keyword(Free). Keyword Research. what is keyword. 
deepak nagpal.
free blogging course.

इसमें आपको ट्रैफिक का पता चल जाएगा, किस वेबसाइट ने कितने words लिखे हैं इसके बारे में पता चल जाएगा और जिस कीवर्ड पर आप ब्लॉग लिखना चाहते हो उस कीवर्ल्ड को उस वेबसाइट ने कितनी बार यूज किया है इसके बारे में पता चल जाएगा।

Tool for Find Search Volume of any Keyword(Free). Keyword Research. what is keyword. 
deepak nagpal.
free blogging course.

इसमें एक ओर important फेक्टर है सिमिलरिटी का।  इसमें आपको पता चल जाएगा कि आपका कीवर्ड इन वेबसाइट में कितने परसेंट मैच कर रहा है। अगर हंड्रेड परसेंट मैच करता है या 50 से ऊपर मैच करता है तो आपके लिए डिफिकल्टी ज्यादा है अगर रिजल्ट्स में कीवर्ड सिमिलरिटी  बहुत कम है तो आपके लिए पोजीशन बन सकती है।

Tool for Find Search Volume of any Keyword(Free). Keyword Research. what is keyword. 
deepak nagpal.
free blogging course.

यहाँ पर रैंक हो रही वेबसाइट में अपने देखना होगा की उन्होंने कितने वर्ड्स में आर्टिकल लिखा है आपको उनसे ज्यादा वर्ड्स में आर्टिकल लिखना होगा तभी आप उन्हें बीट कर पाओगे।

Tool for Find Search Volume of any Keyword(Free). Keyword Research. what is keyword. 
deepak nagpal.
free blogging course.

Find keyword ideas

अब हम एक और वेबसाइट के बारे में जानेंगे जिससे आप कीवर्ड ideas ले सकते हो इस वेबसाइट में आप अपना कीवर्ड डालेंगे  और आपको बहुत सारे आईडिया मिल जाएंगे।

https://answerthepublic.com/

Find keyword ideas. Keyword Research. what is keyword. 
deepak nagpal.
free blogging course.

इसमें आपको ट्रांजिशनल वर्ड्स के साथ आइडिया मिलेंगे जो के बहुत हेल्पफुल रहते हैं।

Find keyword ideas. Keyword Research. what is keyword. 
deepak nagpal.
free blogging course.

 111 total views,  1 views today

2 thoughts on “2.4 What is Keyword for Blog and How to do Keyword Research?”

  1. Pingback: TOP 87 Best Blogging quotes in Hindi

  2. Pingback: How to add sitemap in blogger - Free Blogging Masterclass

Leave a Comment

Your email address will not be published.