5.5 Setting and SEO for Article Publishing

setting and SEO for article publishing

किस आर्टिकल में हम सीखेंगे के वह कौन-कौन से पॉइंट्स होते हैं जिनको अगर हम ठीक कर लें तो हमारा SEO score ठीक हो जाएगा। फिर चाहे आप रैंक मैथ  यूज कर रहे हैं या yoast SEO  यूज कर रहे हैं.

देखे गूगल की नजर में Yoast या रैंक मैच मैटर नहीं करता। उनका चाहे कुछ भी स्कोर आ रहा हो बस इन से हमें यह पता चल जाता है कि हमारे आर्टिकल में गलती क्या है. क्योंकि यह हमें इतना बता देते हैं कि अब हमारा आर्टिकल सही है। क्योंकि इन्होंने जो सेटिंग करी  होती है वह इस तरह से बनाई होती है कि गूगल की नजर में वह सही होती है। ना कि गूगल इनको आकर चेक करता है कि इन्होंने क्या स्कोर दिया है उसको गूगल नहीं देखता है यह बस हमें हमारी गलती बता देते हैं ताकि हम गूगल की नजर में सही हो सके.

हम जोयो yoast seo या rank math यूज करते हैं तो उसमें टाइटल parmalink और meta discription होती है तो हम उसमें सही कर देते हैं, टाइटल parmalink और meta discription हमें लगता है कि गूगल अपने सर्च रिजल्ट में यही दिखाएगा .लेकिन ऐसा नहीं होता है गूगल कई बार अपनी मर्जी से भी हमारे आर्टिकल में से भी डाटा उठा कर दिखा देता है. तो इसलिए आप इन टूल्स के ऊपर डिपेंड ना रहे आप टाइटल अच्छा लिखिए और जो फर्स्ट पैराग्राफ होगा उसको बहुत ही सोच समझ कर लिखिए उसमें focus keyword डालिए क्योंकि जो गूगल डिस्क्रिप्शन उठाएगा वह आपके फर्स्ट पैराग्राफ से ही उठाएगा और टाइटल को भी बिल्कुल catchy और फोकस कीवर्ड को मिलाकर ही बनाइए. ताकि अगर इन tools से मेटा डिस्क्रिप्शन ना लेकर जाए तो भी हमारे आर्टिकल की रैंकिंग पर कोई फर्क ना पड़े।

रैंक math में स्कोर 80 से ऊपर हो तो सही रहता है.

जब हम एक ही टॉपिक के ऊपर आर्टिकल्स की लिस्ट बनाते हैं तो उसमें जो सबसे मेन आर्टिकल होगा उसको हम this post is pillar content पर क्लिक करेंगे।

आर्टिकल में जब हम इमेज यूज करेंगे तो वहां पर alt टेक्स्ट में  फोकस कीवर्ड भी डालना है।

 72 total views,  1 views today

Leave a Comment

Your email address will not be published.