5.2 Article Title Secret Formula

Article के टाइटल में 12 words और 150 characters होने चाहिए।

अगर आप इंग्लिश में कंटेंट लिखते हैं तो उसको चेक करने के लिए आप ग्रामरली क्रोम एक्सटेंशन का यूज कर सकते हैं। इस एक्सटेंशन से आप स्पेलिंग चेक कर सकते हैं. एक्टिव वॉइस पैसिव voice चेक कर सकते हैं यह  फ्री है

और नोट्स बनाने के लिए आप गूगल डॉक्स का यूज कर सकते हैं क्योंकि गूगल डॉक्स ऑनलाइन चलता है और जब आप इसको ओपन करेंगे तो यह ग्रामरली के साथ कनेक्ट हो जाता है।

इनका यूज करने से स्पेलिंग मिस्टेक नहीं होगी

किसी भी आर्टिकल के वर्ड काउंट करने के लिए एक वेबसाइट है जिस में आप आर्टिकल का कंटेंट पेस्ट करके उसके वर्ड्स करेक्ट अकाउंट कर सकते हो।

https://wordcounter.net/

माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में भी आप वर्ड काउंट कर सकते हो

टाइटल को जितना हो सके छोटा लिखना है, 12 वर्ड से ज्यादा नहीं लिखना है क्योंकि गूगल में जब कोई यूज़र आता है तो वह टाइटल को देखकर ही अपने आर्टिकल में आता है इसलिए टाइटल जितना छोटा होगा, उतना ही अच्छा लगता है. ऐसा नहीं है कि अगर आप बड़ा टाइटल लिख लोगे तो वह टर्मिनेट हो जाएगा। ऐसा कुछ नहीं होगा, आर्टिकल चलता रहता है लेकिन रैंक करने में प्रॉब्लम आती है. SEO  के हिसाब से टाइटल 12 वर्ड का ही होना चाहिए और डेढ़ सौ characters से ऊपर नहीं होना चाहिए।

करैक्टर आप 150  तक लेकर जा सकते हो लेकिन मैं रेकमेंड करूंगा कि आप 100 से 120  तक ही रखें।

टाइटल के अंदर अपने कीवर्ड यूज करने हैं और एक keyphrase भी यूज करना है। अगर आपको नहीं पता कि kephraceऔर keyword  में क्या फर्क होता है. तो मैं आपको shortkut में बता देता हूं किवर्ड एक वर्ड होता है और किफ्रेश होता है जिसमें 1 से ज्यादा वर्ड्स को मिलाकर कीवर्ड बनाया जाता है. जैसे अब मैं कह दूं कि बैग्स तो इसका क्या मतलब पता चलेगा, इसका कुछ मतलब नहीं पता चल पाएगा, की हम क्या बताना चाहते हैं।  अगर मैं कह दूं -बेस्ट बैग इन इंडिया ,तो इसका मतलब पता चल रहा है. इस तरह से आपने अपने टाइटल के अंदर एक की phrace जरूर यूज़ करना है और उस कीफ्रेश का सर्च वॉल्यूम भी चेक करना है ताकि यूजर को पता चल सके कि हमने किस टॉपिक के ऊपर आर्टिकल बनाया है।

आर्टिकल लिखने के लिए हम अपने हिसाब से एक टाइटल टाइप कर लेंगे। उस टाइटल के अंदर एक फोकस की फ्रेश या फोकस कीवर्ड होगा। जैसे के हम लिखते हैं How to write a good blog तो इस लाइन के अंदर हमारा फोकस kephrace होगा write a good blog.  अब हम write a good blog को AHREF  या google keyword planner में सर्च करेंगे और जिस फोकस keyphrace  का सर्च वॉल्यूम ज्यादा होगा और कंपटीशन लो होगा, उस keyword  को हम फोकस keyphrace  से रिप्लेस करेंगे और उस टाइटल को हम अपने आर्टिकल का टाइटल बनाएंगे और फोकस keyphrace  में हमने जो keyword  फाइंड किया है उसको डालेंगे।

तो ऊपर हमने यह सीखा है कि एक बढ़िया कीवर्ड का यूज़ करते हुए हमने अपने आर्टिकल के लिए टाइटल कैसे बनाना है।

फोकस कीवर्ड बनाने के लिए आपको जो जो कीवर्ड मिले उन सभी की  लिस्ट बना लेनी है और फिर उनमें से जो सबसे अच्छा कीवर्ड होगा उसको अपना फोकस कीवर्ड बनाना है और टाइटल में यूज करना है।   

आप अपने टाइटल के अंदर एक से ज्यादा कीवर्ड्स को डालो आप इसमें नंबर को भी डाल सकते हो पर कीवर्ड्स इस तरह से डालने हैं जिससे उसका मीनिंग समझ आए आपकी वर्ष डालते हुए कोई ऐसा टाइटल नहीं बना देना है जिसका मतलब ही ना निकलता हो

for example

what is a trusted website for an online data entry job

अब इसमें कौन-कौन से की वर्ड यूज किए गए हैं

1. trusted website for an online data entry job

2. online data entry job

3. data entry job

तो इसमें देखिए 3 की वर्ड यूज किए गए हैं इस तरह से आप मल्टीपल कीवर्ड्स को अपने टाइटल में यूज कर सकते हो।

देखिए टाइटल ही मेन होता है जब भी कोई गूगल में सर्च करता है तो यूजर को सबसे पहले टाइटल ही दिखता है और गूगल भी टाइटल से ही पहचानता है कि आपने किस टॉपिक के ऊपर आर्टिकल लिखा है तो आपने अपना ज्यादा से ज्यादा टाइम टाइटल पर लगाना है और उस में यूज होने वाले कीवर्ड पर लगाना है ताकि आप एक अच्छा रैंक करने वाला आर्टिकल लिख सको.

आप अपने आर्टिकल टाइटल में सिमिलर टाइप कीबोर्ड भी यूज कर सकते हो इसका मतलब होता है जिसके ज्यादा सारे मीनिंग निकलते हो। अगर कोई दूसरा सिमिलर कीवर्ड सर्च करेगा तो भी आप का आर्टिकल आ सकता है.

जिसको हम synonyms भी बोलते हैं। synonyms फाइंड करने के लिए आप ग्रामरली का यूज कर सकते हो। वहां पर जब आप किसी की वर्ड के ऊपर से लेफ्ट करेंगे तो आपको नीचे सिमिलर टाइप कीवर्ड दिखाई दे जाएंगे।

आप कीवर्ड डालो वेरिएशन करो, कीवर्ड को जोड़कर टाइटल को इस तरीके से जोड़ने की कोशिश करनी है आप इसमें कुछ नंबर भी जोड़ सकते हो

ज्यादा कीवर्ड और नंबर डालने के चक्कर में टाइटल को अनरियलिस्टिक नहीं बना देना है।

जिसका कोई मतलब ही ना निकलता हो।

आर्टिकल का जितना भी कंटेंट लिख रहे हो उनके जितने भी वर्ड्स हैं उनका फर्स्ट करैक्टर कैपिटल लिखना है

How to Write a Good Article

जो ट्रांजिशनल कीवर्ड होंगे उनके फर्स्ट ट्रैक्टर को कैपिटल करने की जरूरत नहीं है.

अगर आपके पास सिमिलर कीवर्ड्स है तो आपने ज्यादा आर्टिकल बनाने का लालच नहीं करना अगर आप एक ही आर्टिकल में उनको लिख सकते हो तो एक ही आर्टिकल बना लो आर्टिकल 1 हो पर अच्छा होना चाहिए जबरदस्त होना चाहिए अगर आप जबरदस्त आर्टिकल लिखोगे तो एक आर्टिकल आपका 10 आर्टिकल के बराबर हो जाएगा और उस पर विजिटर ज्यादा आ जाएंगे।

टाइटल के अंदर एक की phrace  होता है उस की phrace  के अंदर कुछ words आ जाते हैं उन वर्ड्स को कीवर्ड span बोलते हैं कि कीवर्ड span 5 तक हो तो कोई प्रॉब्लम नहीं होती है।

a catchy headline is extremely important to bring the reader into to view an article, advertisement, or social media post use keypress in the title it must help you rank for a keyword the recommended length of a title is no more than 12 words upto 150 characters

अगर हम अपने आर्टिकल में नंबर यूज करेंगे, जैसे के टॉप फाइव, बेस्ट, इस तरह से तो अगर कोई बिना नंबर के भी सर्च करेगा तो भी हमारा आर्टिकल उसके सामने आ सकता है. एग्जैक्ट अगर उसने नंबर सर्च किया तो सबसे ऊपर उसी का रिजल्ट आएगा ,जिसने एग्जैक्ट उसी नंबर पर आर्टिकल बनाया होगा। जैसे अगर किसी ने सर्च किया टॉप फाइव मोबाइल इन इंडिया तो अगर किसी ने बनाया होगा टॉप फाइव मोबाइल इन इंडिया तो पहले उसी का आएगा फिर टॉप टेन वाले का आएगा।

तो ऊपर हमने क्या कुछ सीखा के किसी आर्टिकल में SEO  का मतलब क्या होता है देखिए SEO  का मतलब जिस से भी आप पूछोगे वह कहेगा सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन। लेकिन असल में सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन में कौन-कौन सी फैक्टर होते हैं जो आपको करने होते हैं ,वह मैं एक बार शॉर्टकट में बताता हूं, सबसे पहले आपने रेंडम कोई टाइटल लिख लेना है और फिर उसके अंदर कीवर्ड ऐड करने हैं. आपने उसके अंदर फोकस कीवर्ड ऐड करने हैं और उन कीवर्ड के ऊपर बहुत टाइम लगाना है सर्च करने के लिए सर्च करने के बाद आपने एक ऐसा किवर्ड बनाना है या ऐसा एक टाइटल बनाना है जिसमें बहुत सारे कीवर्ड आ जाएं।

तो इसी को ही हम SEO   फ्रेंडली टाइटल कहते हैं।

 65 total views,  1 views today

Leave a Comment

Your email address will not be published.