3.8 Allowing comments and comment moderation

आज हम इस आर्टिकल में सीखने वाले हैं दिस allowing comments and comment moderation. comment आपकी वेबसाइट में एक बहुत ही important feature होता है।

क्योंकि आप through the comment ही यूजर के साथ interact करते हो।

आप अपनी website में जो भी काम करते हो। वह comments के जरिए ही आपको पता चलेगा कि आपने जो काम किया है वह अच्छा किया है या बुरा।

अभी हम सीखेंगे कि आपने comments के लिए कौन-कौन सी settings करनी है जो कि बहुत important होती है।

Comments setting for SEO करने के लिए आपने जाना है –

WordPress dashboard >>setting >>discussion

email me whenever वाली ऑप्शन में आपको दो ऑप्शन दिखाई देंगे उन दोनों को off कर दो ताकि जब भी कोई comment करे तो उसकी mail आपको ना आए क्योंकि इससे inbox भर जाता है।

automatically close comment on post older than 14_ days का मतलब होता है कि इतने दिन तक अगर आप किसी comment को approve नहीं करते हो तो वह कमेंट अपने आप delete हो जाएगा।

Default Post Setting मैं आपको तीन options मिलेंगी

  1. Attempt to notify any blog linked to form the post
  2. Allowed link notification from other blogs
  3. Allow people to submit comments on new posts

आप जब भी article लिखोगे इन तीनों options को आप चेंज कर सकते हो पर आपने जो तीसरी option है उसको ON करके रखना है ताकि जब भी आप new पोस्ट publish करो तो user उस post में comment कर सके।

comment author must fill out name and email का मतलब होता है कि यूजर को name and email id डालना ही पड़ेगा।

user must be registered and logged in to comment का मतलब है कि यूजर को रजिस्ट्रेशन करनी पड़ेगी और जो यूजर रजिस्टर करके लॉगइन करेगा वही कमेंट कर सकेगा।

Break comments into pages with 50 top level comments per page and last page display by default comment should be displayed with the comments at the top of each page का मतलब है कि एक आर्टिकल में 50 कमेंट ही दिखाई दे और अगर हंड्रेड कमेंट है तो बाकी के 50 अगले पेज में दिखाई दे. तो आपको नीचे नेक्स्ट का बटन मिल जाएगा और जो Last वाली ऑप्शन है अगर उसको आप सिलेक्ट करते हो तो जो लेटेस्ट कमेंट होंगे वह आपको टॉप पर दिखाई देंगे।

email me whenever मैं आपको दो ऑप्शन मिलेंगी

  1. anyone post a comment
  2. a comment is held for moderation

इन options का मतलब है कि जब भी कोई कमेंट करेगा तो आपको उसकी ईमेल आएगी और दूसरी ऑप्शन है कि जब भी कोई कमेंट करेगा तो वह approve नहीं होगा।

वह एक बार रुक जाएगा ताकि आप उस कमेंट को देख सको उसको Edit कर सको अगर आपको ठीक लगे तो आप इसे approve कर दो।

Before a comment appears मैं पहली ऑप्शन है comment must be manually approved का मतलब है कि अगर आप इस ऑप्शन को ऑन करके रखते हो तो जो भी बंदा आपके आर्टिकल में कमेंट करेगा उसका कमेंट अपने आप अप्रूव हो जाएगा।

comment author must have a previously approved comment का मतलब है कि जिस कमेंट को आप एक बार अप्रूव कर दोगे तो वह यूजर अगर फ्यूचर में आपको कमेंट करता है तो उसका कमेंट अपने आप अप्रूव हो जाएगा।

comment moderation – hold a comment in the queue if it contains two or more links का मतलब है कि अगर किसी comment में website का Link होता है तो वह aprrove नहीं होगा।

Tip:

क्या किसी की वेबसाइट में कमेंट के अंदर अपनी वेबसाइट के लिंक डालना सही होता है?

अगर आप सोच रहे हो कि आप किसी की वेबसाइट में जाकर कमेंट करोगे और उस कमेंट में अपने आर्टिकल का लिंक डाल दोगे तो इससे आपकी वेबसाइट पर ट्रैफिक आने लग जाएगा, इससे आपका SEO score बढ़ जाएगा तो ऐसा नहीं होता है। इसको spaming कहते हैं गूगल की नजर में यह स्पैमिंग है।

गूगल की नजर में सिर्फ organic ट्रैफिक ही सबसे बेस्ट होता है।

और ऑर्गेनिक टै्रफिक लाने के लिए आप अच्छे-अच्छे आर्टिकल लिखिए और लिखने का स्टाइल ऐसा होना चाहिए कि किसी को भी आसानी से समझ आ सके तभी आपका आर्टिकल जल्दी इंडेक्स होगा और गूगल में रैंक करेगा। यूजर को वैल्यू दीजिये।

Serach engine में आर्टिकल को रैंक करवाने के लिए क्या हमारा आर्टिकल बड़ा ही होना चाहिए?

आर्टिकल छोटा हो या बड़ा इस से मतलब नहीं है. लेकिन जितना भी लिखो उससे पढ़ने वाले को फायदा होना चाहिए। तभी आपका आर्टिकल रैंक करेगा। क्योंकि गूगल खुद आपके आर्टिकल को पड़ता है ,अगर उसको लगता है कि इस आर्टिकल से किसी को वैल्यू मिल सकती है तभी वह आपके आर्टिकल को सर्च इंजन में रैंक करवाता है।

Disallowed comment keys – when a comment contain any of these words in its content author name URL email IP address for browsers user agent string it will be put in the trash one word for IP address for line it will match inside word seopress will match WordPress इस ऑप्शन का मतलब है कि इस बॉक्स में आप जो भी कीवर्ड डाल दोगे अगर उन कीवर्ड में से कोई भी वर्ड किसी भी कमेंट में होगा तो वह कमेंट अप्रूव नहीं होगा। जैसे आपने डाल दिया www तो जिस लिंक में www होगा या आपने डाल दिया .com तो चीज कमेंट में होगा .com वह कमेंट अप्रूव नहीं होगा.

 81 total views,  1 views today

Leave a Comment

Your email address will not be published.