4.1.2 themes customization

वेबसाइट का डिजाइन करना और थीम को कस्टमाइज करने में बहुत फर्क होता है। जब हम थीम को कस्टमाइज करते हैं तो सारी वेबसाइट में चेंज हो जाते हैं जब के वेबसाइट डिजाइनिंग में जिस पेज को हम डिजाइन करेंगे सिर्फ वही पेज ही चेंज होगा।

वेबसाइट थीम को कस्टमाइज करने के लिए अपीयरेंस के अंदर जाकर कस्टमाइज पर क्लिक करना है।

ग्लोबल वाली ऑप्शन में आप वेबसाइट के कलर चेंज कर सकते हो जैसे के टेक्स्ट का कलर टाइटल का कलर या फिर थीम कलर।

Link Hover Color का मतलब होता है कि किसी बटन के ऊपर जब आप माउस लेकर जाते हो तब जो कलर चेंज होता है उसको Link Hover Color कहते हैं.

जब आप एलिमिनेटर की मदद से किसी पेज को कस्टमाइज करोगे तब थीम कस्टमाइजेशन का उस पेज के ऊपर कोई असर नहीं होगा।

साइट आइडेंटिटी वाले ऑप्शन में आप अपनी वेबसाइट का लोगो लगा सकते हो जो के सभी पोस्ट और पेजेस में दिखाई देगी और हेडर में आप टाइटल लगा सकते हो टैग लाइन लगा सकते हो और menu की सेटिंग भी कर सकते हो।

hrader ऑप्शन में जब आप चेंज करोगे तो मोबाइल में चेंज नहीं होते हैं. उसके लिए लेफ्ट साइड पर नीचे आपको मोबाइल और लैपटॉप के लिए फंक्शन मिल जाता है. वहां पर मोबाइल ऑप्शन को सिलेक्ट करके आपको विजिट अलग से लगाने पड़ेंगे। तभी मोबाइल में चेंजिंग आएंगे।

logo के लिए या और भी कोई इमेज जब आप यूज करते हो उसमें ओल्ड टेक्स्ट जरूर देना है क्योंकि गूगल ग्राफिक के माध्यम से इमेज को नहीं देखता है वह टेक्स्ट के जरिए ही इमेज को रीड करता है.

जब आप लोगों के लिए इमेज सिलेक्ट करोगे तब वहां पर आपको क्रॉप की ऑप्शन भी आएगी। आप क्रॉप करके इमेज का यूज़ करिए इससे इमेज का साइज छोटा हो जाता है और जितना लोगों हमें चाहिए उतना ही सिलेक्ट हो जाता है।

लोगों के लिए जो आप इमेज यूज़ करते हो उसका साइज छोटा होना चाहिए और उसके डाइमेंशंस भी कम होनी चाहिए लोगों की डाइमेंशंस अप्रॉक्स 1000*1000 होनी चाहिए अगर लोगों की इमेज बड़ी होगी तो लोगों का साइज भी बड़ा होगा उसको आप थीम कस्टमाइजेशन में छोटा नहीं कर सकते इसलिए आपको अलग से ही छोटा लोगो बनाना पड़ेगा और उसको अपलोड करना पड़ेगा.

साइट आइकन चेंज करने के लिए अपने इस ऑप्शन पर क्लिक करना है यहां से आप अपनी वेबसाइट यूआरएल के आइकन को चेंज कर सकते हो.

लोगों का साइज मोबाइल के लिए और लैपटॉप के लिए अलग से सिलेक्ट करना पड़ेगा तभी लोगों का साइज चेंज होगा अगर आप लैपटॉप के साइज को चेंज करेंगे तो वह लैपटॉप में ही उठना चाहिए जाएगा और जब मोबाइल के साइज को चेंज करेंगे तो मोबाइल का साइज चेंज हो जाएगा उसके लिए आपने इस ऑप्शन पर क्लिक करना है

अगर आप देखना चाहते हो क्या आप की वेबसाइट मोबाइल में किस तरह से दिखती है और लैपटॉप में किस तरह से दिखती है तो उसके लिए आपने वेबसाइट के होमपेज के ऊपर राइट क्लिक करके इंस्पेक्ट पर क्लिक करना है और उसके बाद में आपने टॉगल डिवाइस टूल बार पर क्लिक करना है और उसके बाद में रेस्पॉन्सिव में जाकर आप किसी भी मोबाइल को सिलेक्ट करके चेक कर सकते हैं कि मोबाइल के अंदर आपकी वेबसाइट कैसे दिखेगी।

2nd

पेजेस और ब्लॉक में डिफरेंस क्या होता है

वेबसाइट के ऑफिशियल पेजेस जैसे कि अबाउट्स प्राइवेसी पॉलिसी, कांटेक्ट us, होमपेज इस तरह के पेजेस को बनाने के लिए हम पेजेस का यूज करते हैं एंड आर्टिकल लिखने के लिए हम पोस्ट का यूज करते हैं.

यहां से होमपेज के अंदर साइड बार बना सकते हो

post, pages, archives के लिए आप side baar अलग-अलग तरह से रख सकते हो।

कॉपीराइट एरिया को चेंज करने के लिए अपने फोटो के अंदर जाकर कॉपीराइट ऑप्शन के ऊपर क्लिक करना है और वहां से आप कॉपीराइट एरिया कंटेंट को चेंज कर सकते हो.

2nd

footer के अंदर आप कोई भी विजिट लगा सकते हो जैसे के कैलेंडर, रिसेंट पोस्ट, कैटेगरी।

फुटर के अंदर हम अपनी वेबसाइट का मैन्यू भी सेट कर सकते हैं, उसके लिए हमने मैन्यू में जाकर एक और menu क्रिएट कर लेना है. उसका नेम फूटर menu रख देना है. header के अंदर आप अलग मैन्यू बना सकते हो. फुटर के अंदर आप अलग menu बना सकते हो।

# का मतलब डमी लिंक होता है।

जब आप अपीयरेंस में जाकर menu पर क्लिक करके ,footer menu बनाएंगे तो वहीं पर आपको डिस्प्ले लोकेशन की ऑप्शन मिलेगी। उसमें आपने फुटर menu को सेलेक्ट करना है एंड जब आप हेडर menu बनाएंगे तब आप आपने वहां पर प्राइमरी menu सिलेक्ट करना है।

 60 total views,  1 views today

Leave a Comment

Your email address will not be published.