8.10 User experience on on-Page SEO

SEO हो 3 तरह के होते हैं पहला होता है on page SEO दूसरा होता है off page SEO और तीसरा होता है technical SEO.

short description of on page SEO and off page SEO

किसी भी आर्टिकल को रैंक करवाने के लिए आर्टिकल के अंदर हम जो भी सेटिंग करते हैं जैसे हेडिंग, टाइटल, टैग, इस तरह की सेटिंग को जब हम करते हैं इस को on page SEO कहते हैं और आर्टिकल के बाहर जवाब कुछ करते हैं जैसे बैकलिंक बनाना या अपने लिंक कहीं पर डालना तो इसको हम off page SEO कहते हैं.

USER EXPERIENCE

यूजर एक्सपीरियंस का मतलब है कि जब कोई USER आपकी वेबसाइट पर आता है तो उसको आप की वेबसाइट पर आकर अच्छा लगता है या बुरा लगता है. इसको यूजर एक्सपीरियंस कहते हैं और यह डेफिनेटली अच्छा ही होना चाहिए. क्योंकि अगर किसी वजह से यूजर एक्सपीरियंस खराब होता है, तो इससे यूजर आपकी वेबसाइट पर रुकेगा नहीं .आपकी वेबसाइट को छोड़कर दूसरी वेबसाइट पर चला जाएगा और इससे आपकी वेबसाइट का बाउंस रेट बढ़ जाएगा और आपकी वेबसाइट की रैंकिंग खराब हो जाएगी।

What are the reasons that cause the user experience of your website to deteriorate

जैसे कि बहुत सारी ads आ जानी बहुत सारे popup आ जाने ,सब्सक्राइब करने की नोटिफिकेशन आ जानी, वेबसाइट की स्पीड स्लो होना, वेबसाइट को लोड होने में ज्यादा टाइम लगना, यह सब कारण होते हैं जिनकी वजह से आपकी वेबसाइट का यूजर एक्सपीरियंस खराब होता है.
ऐसा क्यों होता है ,क्योंकि जब आप की वेबसाइट में बहुत सारी ADS चलती हैं. तब बैकेंड में बहुत सारे codes वर्क करते हैं. जिनकी वजह से वेबसाइट slow हो जाती है.

अब हम कुछ ऐसे Tips की बात करेंगे जिनका use करके आप अपनी वेबसाइट का user experience अच्छा कर सकते हो।

Tips for improve User experience of your website
  1. Optimisation: आप अपनी वेबसाइट को अपने हिसाब से optimize मत करो आप अपनी वेबसाइट कोई यूजर के हिसाब से optimize करो. आप मान कर चलो कि अगर आप अपनी वेबसाइट पर यूजर बन कर आओ, तो आपको आपकी वेबसाइट अच्छी लगेगी या नहीं। आप यह Feel करो कि आपने अपनी वेबसाइट को जिस तरह से optimize किया है, उसमें as a user आपको कोई प्रॉब्लम तो नहीं हो रही है. आपको कोई disturbance तो नहीं हो रही है. आपका मेन फोकस यूजर को वैल्यू प्रोवाइड करना होता है. अगर यूजर को वैल्यू नहीं मिल रही है, यूजर को कंटेंट read करने में बहुत ज्यादा प्रॉब्लम हो रही है, तो यूजर आपकी वेबसाइट को छोड़कर दूसरी वेबसाइट में चला जाएगा। जिससे आप अपने आप ही पीछे चले जाओगे और गूगल आपको दूसरे तीसरे पेज पर भेज देगा। जिससे आपकी वेबसाइट की रैंकिंग खराब हो जाएगी।
  2. Use responsive theme: आपने अपनी वेबसाइट के लिए responsive theme का यूज करना है. अभी भी कुछ लोग ऐसे हैं जो कि अपनी वेबसाइट के लिए responsive theme यूज नहीं करते हैं. responsive theme का मतलब यह होता है कि अगर आप अपनी वेबसाइट के लिए mobile friendly theme यूज कर रहे हो तो मोबाइल के अंदर आपकी वेबसाइट बिल्कुल सही तरीके से खुलेगी। image बिल्कुल सही दिखेगी टेक्स्ट बिल्कुल सही दिखेगा। सबकुछ बिल्कुल सही परफेक्ट दिखेगा और आपकी वेबसाइट desktop friendly भी होनी चाहिए। tablet friendly भी होनी चाहिए। सब कुछ सही फिट होना चाहिए।
  3. keep your blog clean and easy to understand: आपने अपनी वेबसाइट को बिल्कुल clean और easy to understand रखना है। clean का मतलब यह नहीं है कि बिल्कुल ही सिंपल रखना है. आप अपनी वेबसाइट को डिजाइनिंग बनाओ। लेकिन ऐसा नहीं होना चाहिए कि आपने अपनी वेबसाइट में इतना कुछ लगा रखा है कि कंटेंट दिख ही नहीं रहा. आपकी वेबसाइट के अंदर अगर आप आर्टिकल लिख रहे हो तो आपके आर्टिकल का कंटेंट सबसे ज्यादा हाईलाइट होना चाहिए। बाकी चीजें आप यूज़ करो, लकिन अपने आर्टिकल या अपनी website को डीसेंट तरीके से use करो। क्योंकि अगर ऐसा नहीं करते हो तो वह आपकी वेबसाइट को छोड़कर चला जाएगा। एक बात हमेशा याद रखनी है “content is the king” .अगर आप अपनी वेबसाइट को क्लीन एंड ईजी टो अंडरस्टैंड बनाते हो तो इससे आपकी वेबसाइट की स्पीड भी इंक्रीज हो जाएगी।
  4. use proper image size: इमेज का साइज कम रखना है
  5. don’t use too much ads: आपने अपनी वेबसाइट में ज्यादा ads नहीं लगानी है क्योंकि अगर आप ज्यादा ad लगा देते हो और अगर गलती से यूजर उस ad पर क्लिक भी कर देता है तो वह फटाफट उस ऐड से वापस आ जाएगा तो गूगल को लगेगा कि यह क्लिक गलती से हुआ है या जबरदस्ती करवाया गया है तो उसके आपको एक बार पैसे मिल जाते हैं लेकिन कुछ देर बाद वह पैसे काट लिए जाते हैं और उसके लिए गूगल आपको error भी दे देगा। इसलिए ज्यादा ads मत लगाइए। अगर क्लिक होना होगा तो कम ad में भी हो जाता है.
  6. don’t use too much pop ups: आपने अपनी वेबसाइट में एक आधे फंक्शन के ऊपर पॉपअप लगाना है. ऐसा नहीं होना चाहिए कि यूजर कुछ भी एक्टिविटी करें, उसको पॉपअप आ जाए. अगर ऐसा होता है तो यूजर परेशान हो जाएगा और वह आपके वेबसाइट को छोड़कर किसी दूसरी वेबसाइट पर चला जाएगा।
  7. optimise your website speed: वेबसाइट की स्पीड को Optimize करना Technical s.c.o. के अंदर आ जाता है. यूजर एक्सपीरियंस को इंप्रूव करने के लिए वेबसाइट की स्पीड एक बहुत ही इंपॉर्टेंट टॉपिक है।

 41 total views,  1 views today

Leave a Comment

Your email address will not be published.